CBDC:भारत का डिजिटल करेंसी क्या है | Central Bank Digital Currency 2023

CBDC CENTRAL BANK DIGITAL CURRENCY OF INDIA IN HINDI

आपने कुछ समय पहले न्यूज़ चैनल में पढ़ा होगा कि इंडिया ने Central Bank Digital Currency (CBDC) लांच की है। रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया ने अपने पायलट प्रोजेक्ट के तहत डिजिटल रूपये को लॉन्च किया है, जिसे सेंट्रल बैंक डिजीटल करेंसी (Central Bank Digital Currency)  या शार्ट में कहें तो CBDC कहा जाता है।

अब आप सोच रहे होंगे कि यह डिजिटल करेंसी है क्या? किस तरह काम आएगी? इसको लांच करने के पीछे उद्देश्य क्या है? इस तरह की तमाम जानकारी हम आपको इस पोस्ट के माध्यम से आपसे साझा करेंगे, तो आप यह पोस्ट पूरी पढ़िएगा।

WHAT IS CBDC IN HINDI
CBDC:भारत का डिजिटल करेंसी क्या है | Central Bank Digital Currency 2023 5

CBDC: Central Bank Digital Currency Kya Hai?

CBDC (सेंट्रल बैंक डिजिटल करेंसी) एक तरह का रुपया ही है, इसे हम इसका इलेक्ट्रॉनिक रुप कह सकते हैं। यह एक तरह से आपके पेटीएम या फोन पर में रखे हुए रुपयों के समान ही है, जिसमें बस इतना अंतर है कि पेटीएम या फोन पे की जगह यह बैंक द्वारा संचालित किया जाएगा। 

यह आप भी इस्तेमाल हो रहे हैं रुपए की तरह ही है, बस इसमें थोड़ा सा डिजिटल फॉर्म में चेंज किया गया है। जब आप पेटीएम में रुपए डालकर लेनदेन करते हैं, तो वह आपके बैंक अकाउंट से ही होती है, ठीक उसी प्रकार CBDC वाॅलेट में कुछ डालकर लेनदेन करेंगे तो वह भी आपके बैंक अकाउंट से ही होगी।

भारत में डिजिटल करेंसी क्रिप्टो करेंसी की मांग बहुत अधिक है, जिसका रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया शुरुआत से ही विरोध करता आया है, जिसके फलस्वरूप सीबीडीसी का उदय हुआ, जो केंद्र सरकार की ओर से जारी वैध डिजिटल करेंसी है।

Central Bank Digital Currency (CBDC) के फायदे

हमारे देश में सेंट्रल बैंक डिजिटल करंसी आने के बाद आम नागरिकों को अपने पास कैश रखने की आवश्यकता नहीं होगी। जिस तरह आप अपने पर्स में करेंसी को रखते हो, ठीक उसी प्रकार डिजिटल करेंसी को आप अपने मोबाइल वॉलेट में रख सकते हैं, 

इस पूरे सरकुलेशन का नियंत्रण रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया के पास रहेगा। डिजिटल करेंसी के आने से सरकार, आम नागरिकों तथा बिजनेस के लिए लेनदेन की लागत कम हो जाएगी। 

जिसमें उदाहरण के लिए यूएई में काम करने वाले कर्मचारी का वेतन 50% डिजिटल करेंसी के रूप में आता है, जिससे यह देश के बाहर रहने वाले अपने रिश्तेदारों को आसानी से और बहुत कम चार्ज में ट्रांजैक्शन कर सकते हैं। 

जबकि वर्तमान में एक देश से दूसरे देश पैसा भेजने में 7% से अधिक तक चार्ज देना पड़ता है, जो डिजीटल करेंसी आने के बाद 2% तक कम हो जाता हैं, जिससे देश के साथ-साथ आम नागरिक को भी बहुत फायदा होता है।

यह भी पढ़े- पैसो की बचत कैसे करे?

सीबीडीसी से सरकार को फायदा

डिजिटल करेंसी (CBDC) के आने से सरकार का कैश मैनेजमेंट में जो खर्च होता था वह बहुत कम हो जाएगा। डिजिटल करेंसी के आने के बाद नोटों को छापने, उनकी ढुलाई, उसे लाने ले जाने, उसकी सुरक्षा जैसे तमाम कार्यों में जो भी खर्च होता है, उन खर्चों पर लगाम हो जाएगी। 

इतने कार्य में आने के बाद पर्यावरण के लिए भी यह बहुत हितैषी होता है, नोट कम छपने से वृक्षों की कटाई कम मात्रा में होगी। सीबीडीसी की शुरुआत से दुनियाभर में भारत की साख बढ़ेगी और डिजिटल पेमेंट में भारत दुनिया में अपनी पहचान बनाएगा।

SBI अकाउंट से मोबाईल में सीबीडीसी के लिए रजिस्ट्रेशन कैसे करें

अगर आप भी अपने मोबाइल में डिजिटल करेंसी CBDC का यूज़ करना चाहते हैं, तो आप निम्नलिखित स्टेप्स को फॉलो करके इसका इस्तेमाल कर सकते हैं।

  1. सबसे पहले आप गूगल प्ले स्टोर से e₹ (Digital Rupee) ऐप का डाऊनलोड करें, डाउनलोड होने के बाद उसमें s.m.s. और फोन कॉल प्राप्ति की अनुमति प्रदान करें।
  2. ओपन हुए डेशबोर्ड के सारे नियम और शर्तों को ध्यान से पढ़ें और‌ पढ़ने के पश्चात कंटिन्यू पर क्लिक करें।
  3. ऐप में रजिस्ट्रेशन करने के लिए registration पर क्लिक करें, उसके बाद मोबाइल नंबर वाले ऑप्शन में जो नंबर आपके बैंक अकाउंट से जुड़ा हुआ है वह नंबर उसमें डालें और Verify SIM पर क्लिक करें। यह प्रक्रिया पूर्ण होने पर Continue पर क्लिक करें।
  4. Set App Pin पर क्लिक करके अपने मोबाईल के पासवर्ड के साथ Certified करें।
  5. निर्धारित जगह पर‌ अपना नाम लिखकर Choose Wallet पर‌ क्लिक करें। ओपन इनपुट में अपना पिन दर्ज करें और दुसरे इनपुट में वहीं पिन डालकर कन्फर्म करें। 
  6. इसके बाद आपको Wallet Successfully Created  स्क्रीन दिखेंगी, वहां आप Select wallet पर क्लिक करें।
  7. आपको वहां पर ‘link state Bank of India’ वाले ऑप्शन पर क्लिक करना हैं, वहां पर आपका बैंक का जो भी अकाउंट हो,तो उस ऑप्शन पर क्लिक करके आप Continue बटन पर क्लिक करें।
  8. आपको उसके बाद Enter Card Details स्क्रीन पर दिखेगा, जिसमें आप डेबिट कार्ड के अंतिम के 6 अंक और कार्ड की एक्सपायरी डेट दर्ज करें और Continue Button पर क्लिक करें।

इस प्रकार सब कुछ वेरीफाई होने के बाद आपका डिजिटल करेंसी आपके मोबाइल वॉलेट पर उपलब्ध हो जाएगी, जिसका आप किसी भी कार्य को करने में उपयोग कर सकते हैं।

CBDC के प्रकार

सेंट्रल बैंक डिजिटल करंसी के मुख्य रूप से दो प्रकार होते हैं।

TYPES OF CBDC- RETAIL AND WHOLESALE CBDC
TYPES OF CBDC

थोक सीबीडीसी – थोक सीबीडीसी का मुख्य उपयोग बैंकों , वित्तीय संस्थाओं तथा मल्टीनेशनल कंपनियों द्वारा किया जाएगा, जिससे वह तेजी से इधर से उधर लेनदेन कर सकते हैं। दूसरे देशों में लेनदेन करने पर खर्चा भी कम होगा।

खुदरा सीबीडीसी – खुदरा सीबीडीसी का मुख्य उपयोग आम नागरिकों द्वारा किया जाएगा, जिसमें डिजिटल रूप में करेंसी का कहीं भी उपयोग कर सकते हैं। केंद्रीय बैंक द्वारा मान्य होने से वे कैश के रूप में भी इसका प्रयोग कर सकते हैं।

CBDC में चुनौतियां

  • 1. सीबीडीसी की मुख्य चुनौती यह है कि वह साइबर सुरक्षा के लिए किस प्रकार से कार्य करेगी, क्योंकि हमारे देश में साइबर फ्रॉड दिन पर दिन बढ़ता जा रहा है।
  • 2. हमारे देश में साक्षरता की दर कम होने से लोगों में डिजिटल करेंसी का इतना ज्ञान नहीं है, जिससे उन्हें इसका उपयोग करने में दिक्कतों का सामना करना पड़ेगा।
  • 3. डिजिटल करेंसी की शुरुआत से निजता के लिए खतरा उत्पन्न होने की चुनौती होगी।

निष्कर्ष

तो दोस्तों इस पोस्ट के माध्यम से हमने आपको सेंट्रल बैंक डिजिटल करेंसी (Central Bank Digital Currency) की सारी जानकारी उपलब्ध करा दी है। हम आशा करते हैं कि आपको यह पोस्ट बहुत पसंद आएगी। अतः आप इस पोस्ट को अधिक से अधिक शेयर करें।

FAQ: CBDC

क्या CBDC क्रिप्टोकरेंसी है ?

Central Bank Digital Currency भारत का अपना डिजिटल करेंसी है, जिसमे भारतीय मुद्रा को डिजिटल रूप से इतेमाल किया जायेगा, डिजिटल करेंसी, क्रिप्टो करेंसी और CBDC एक ही तरह की तकनीक लगती है परन्तु cbdc क्रिप्टोकरेंसी नही है.

क्या CBDC से कागजी मुद्रा ख़त्म हो जाएगी ?

CBDC के इस्तमाल से ऑनलाइन और सुरक्षित लेनदेन को आगे बढ़ने का लक्ष्य है, हालाँकि इसके इस्तेमाल से फ़िएट करेंसी का इस्तमाल कम किया जायगा परन्तु ऐसा मन जाता है की इसकी वजह से कागजी मुद्रा पूरी तरह से ख़त्म नहीं होगी.

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *